2014年9月30日,星期二

2014年9月29日,星期一

他们应该告诉你你什么时候’重生:有一个手提箱的心,准备旅行。
-互联网

2014年9月27日,星期六

2014年9月26日,星期五

चंचल मन





चंचल मन है नटखट ऐसा,

कभी भागता इक ओर, कभी दौड़ता उस छोर,

它的े खालीपन में गुंजित होती एक आस कहीं,

跨越ाता उल्लास से 下一页े पल बस यूँ ही |


नाचता है मद भरे मोर सा कभी,

कराहता गम भरे अनाथ सा कभी,

कैसे जताये इस पर अपना अधिकार,

ये ना करता हमारी इच्छा अभिसार ||













2014年9月25日,星期四

当我们犯错误时,我们成为律师,而当他人犯错误时,则成为法官。

2014年9月23日,星期二

不能从各个角度进行仔细研究的不是计划,而只是梦想。
-Shakuni

2014年9月22日,星期一


काबिलियत दूसरों को नीचा दिखाने में नहीं, बल्कि ख़ुद इतना ऊँचा मुकाम हासिल करने में है के प्रतिद्वंदी स्वयं नीचे हो जाएँ|

永远不要用别人的成功或失败来衡量自己的成就。

2014年9月20日,星期六


अंधेरों पर उजालो का असर बाकि है, सुबह होने में थोड़ी सी कसर बाकि है |

राज़



लफ्जों से गूफ्तगू में बेपरवाह वो ख़ुद को धोखा दे जाते हैं,

लाख कोशिश कर ले महफूज़ रखने की,

बेमानी करती हैं उनकी 眼皮ें,

झुकते हुए हर राज़ से पर्दा उठा देती हैं

2014年9月16日,星期二

有时,我们的力量不在于我们所做的事,而在于我们不做的事。
-保罗·科埃略

2014年9月15日,星期一

什么 !?你不't Know Hindi !


答对了!您猜对了,这个帖子是亲印地语。 
你的问题-为什么用英语题写? 
我的答案 -简单,这是给那些不知道的人的

9月14日是印地语纪念日。 1949年的这一天,印度制宪议会通过了以德文加里语文字书写的印地语,作为该联盟的正式语言。 


对我而言,倡导印地语的意义本来可以是一件更好的事情!




从小到大,直到今天,我观察到的人都很高兴地承认,他们不懂印地语或母语。相反,他们努力将自己转变成英语加上任何其他外语的神童。不幸的是,这场比赛使他们陷入了茫茫荒野。

如果我不是 在错误的树上吠叫,北印度语是我们大多数人的官方语言和母语。但是有这个品种 感到羞辱和羞愧的人,如果由于某种原因,他们仅能呕吐他们的 图蒂富蒂 英语。怜悯他们...在这个时代,多语种总是好事 globalization. 


无论如何,我想知道是什么使他们对不成为 用自己的母语表达敬意。他们是否有不知道说印地语的神话 或他们的母语 双重暗示 他们是精通英语的人,并且有能力振兴他们的 安格雷兹 随时随地都有翅膀。听起来很荒谬。 

他们知道吗,不像他们 半神 Angrezi Bhasha,北印度语是一种科学语言,也就是说,无论您使用什么单词,音节的发音都保持不变?他们将如何理解?他们的语言性腹泻使他们忙于将这二十四克拉的术语污染到 英文.


亲爱的读者,请不要感到生气。这可能不适合您。



免责声明:这篇文章并非针对任何文化,人,语言或国家,也不预示任何宗教,语言或文化。这只是对我们官方语言的重要性正在消失的当前情况的讽刺言论。










我们看不到事物的本来面目,我们却照原样看待它们。

2014年9月13日,星期六

प्रतीक्षा

हवाई अड्डे पर 下一页ी घोषणा कि प्रतीक्षा में बैठी राधिका कि असली प्रतीक्षा खत्म हुई जब उसे पीछे से शरारत भरी आवाज़ आयी - "तुम्हारा गुड्डा आज भी मेरे पास है |" सामने कान्हा था- उसे बचपन का मित्र | वह मुस्कुराते हुए बोला -"मैने कहा था ना, एक दिन मैं हवाई जहाज़ उड़ाउंगा | "

这个起来्रत्याशित अनुभव से राधिका कि आँखें नम हो गयी, वह कुछ जवाब ही नहीं दे पायी | अपनी भावना व्यक्त कर पाती उसे 主动े ही विमान के उड़ान कि घोषणा हो गयी और कान्हा चला गया |


雨ों कि आरज़ू सामने हो तो दिल कि कसक मिट जाती है,
眼皮ों में भर आता है समंदर खुशियों का
|
जो शब्दों में बयान हो वो
这个ास ही क्या,
कुछ 这个ास बयान करने में अनेक अल्फाज़
पड़ जाते है |


--------- कुछ घंटों बाद ---------

विमान 
के उड़ान के दौरान मंद-मंद मुस्कान लिए हुए राधिका के कानों में कान्हा की आवाज़ गूँज रही थी | मानो उसे कानों में किसी ने शहद घोल दिया हो, या जैसे मधुर संगीत बज रहा हो ! 

कोई वादा नहीं फिर भी एक इंतज़ार है,
रिश्तो 
की डोर पर एतबार है |
每一个िश्ते का कोई नाम नहीं होता,
每一个िश्ते का अंजाम नहीं होता |


अचानक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया | सब तहस नहस हो चुका था, सारे यात्री घायल थे | लोगों कि दर्द भरी चीखें हर ओर थी | कहीं खून बह रहा था, कहीं रुदन कि ध्वनि | राधिका बेहोश थी, पैर मलबे में दबे हुए थे | जब आँखें खोली तो उसे अपनी दृष्टि पर विश्वास ना हुआ, कान्हा के मृत शरीर को ले जाया जा रहा था |

下一页े ही पल, आखरी साँस के साथ राधिका ने जवाब दिया - "मैंने भी कहा था ना, मुझे हवाई जहाज से गिरा मत देना.... ये प्रतीक्षा अब कभी खत्म ना होगी" 

那िना सुने ही चला गया |


--------- 5秒ाल 主动े 
---------

गर्मी का मौसम था | एक दिन मामा के घर कि सफाई करते हुए कान्हा अचानक बेहोश हो गया | मामी बहुत कोसती थी, कहती, “这个 अनाथ को जब से घर लाये हो हमारी तकलीफें बढ़ गयी है | इतना 减 जोर है, कोई काम ठीक से नहीं करता | "मामी उसे दिन में एक बार ही भोजन देती थी |

बेचारा कभी उफ तक नहीं करता | अपने 童年े सपने को साकार करने के लिए खूब मन लगा कर पढाई करता था | 

अक्सर ख़ुदा अपने बंदो का इम्तेहान लेता है,
破损率्द दिया हैं तो मरहम भी वो ही देता हैं |


--------- 7秒ाल 主动े ---------

अपने माता पिता के साथ 香港电台र कान्हा शहर में अच्छा जीवन व्यतीत कर रहा था | पढाई में भी होशियार था | दुर्भाग्य से उसे माता पिता कि मृत्यु एक सड़क हादसे में हो गयी | उसे मामा अपनी बहन कि आखरी निशानी, 
कान्हा को अपने घर ले आए थे | उसे बहुत प्यार देते | परन्तु मामी उनके इस निर्णय से अत्यन्त हर्षित 鼻环ी |

--------- 2秒ाल 主动े ---------

今天ान्हा कि जिंदगी में 雨ों बाद ख़ुशियाँ लौटी थी | मामा भी बहुत प्रसन्न थे, उनका भांजा विमान-चालक (पायलट) जो बन चुका था |

उसे साथ एक विश्वास था - अपने माता पिता के आशीर्वाद का, अपने मामा के प्रेम का और अपनी 童年ि दोस्त राधिका कि मित्रता का |

ज़िंदगानी हसीन हो जाती है,िल से फरियाद करो,
हैं रात तो सुबह का इंतज़ार करो,
वक्त और नसीब पर एतबार करो,
उम्मीद का दीया रौशन लगातार करो |


कान्हा ने हर संभव प्रयत्न किया कि वह राधिका को ये शुभ सूचना दे सके, परन्तु वह असफल रहा | आठ साल से उन दोनो कि बात ना हो पायी थी | गांव में सूखा पड़ने के कारण राधिका का परिवार दूसरे गांव जा कर रहने लगा था | इसलिए उनसे संपर्क नहीं हो पाया |

 --------- 今天ा दिन ---------

राधिका का भाई विदेश में रहता था | रक्षाबंधन पर अपनी बहन से मिलने कि इच्छा से उसने लिए हवाई जहाज़ के टिकट भेजे थे | 


主动ी बार शहर आयी सहमी-
सी राधिका हवाई अड्डे पहुँची | वहां की गतिविधियों की जानकारी ना होने के कारण पास बैठे एक यात्री से बात कर रही थी | उसी नजरें कुछ ढूँढ रही थी, मानो उसे आभास हो गया हो के उसी प्रतीक्षा अब खत्म होने वाली हैं |

 --------- 10秒ाल 主动े ---------

朝三ान में उड़ते हुए हवाई जहाज़ को देखते हुए वो बोला - "एक दिन मै हवाई जहाज उड़ाउंगा" | 更改े में राधिका चिढ़ाते हुए बोली, मुझे गिरा मत देना अपने हवाई जहाज़ से! "

नदी किनारे कयी पहर दोनों साथ बैठे रहते | खूब खेलते, ढेर सारी बातें करते | ना जाने इतनी बातें कहां से आती उनके पास | साथ होते तो वक्त का होश ही नहीं रहता |

राधा रानी और श्री कृष्ण कि ही 喜欢ाधिका बारह वर्ष की, और कान्हा ग्यारह का, राधिका का रंग गोरा और कान्हा का साँवला, राधिका भोली और कान्हा नटखट | 


वो मासूम बचपन,
वो नटखट शरारत,
वो मीठी नोक झोंक,
वो रूठना मानना,
वो गुड्डे गुड़ियों का खेल,
वो भोर कि रौशनी,
वो साँझ कि हवाएँ,
वो चाँदनी रात में तारे गिनना,
वो गिनती भूल जाना,
काश हमेशा साथ निभाता,
वो मासूम बचपन |



下一页ी शाम, मध्यम कद काठी का वो अबोध बालक साइकिल के पहिये को एक लकड़ी से घुमाता हुआ अपने पिताजी के साथ राधिका के घर पहुँचा | राधिका कि कजरारी आँखें और मोरपंख-सी पलकें उस दिन भीग गयीं जब उसे ज्ञात हुआ के उसा परम मित्र और उसा परिवार शहर जा रहे हैं | कान्हा के पिताजी का तबादला हो गया था | रुआंसा चेहरा लिए वह सब सुनती रही | 

गांव से निकलते वक्त कान्हा को राधिका ने अपना प्रिय मिट्‍टी का गुड्डा तोहफे में दिया | अक्सर उसे ले कर दोनों में मीठी तकरार होती थी | दबी आवाज़ में बोली, “这个े सदा साथ रखना “ |

"मैं तुमसे मिलने कि प्रतीक्षा करूँगी |"इ가न ा कहते हुए वो दौड़ कर अपने घर कि ओर गयी और किवाड़ बंद कर लिया | कान्हा ने तेज़ आवाज़ में उत्तर दिया - "मैं भी...." | 那िना सुने ही चली गयी |

छोटी-सी आयु में उन्हे कहां ज्ञात था - "राधा और कृष्ण का मिलन भी कभी हुआ हैं भला ! "

2014年9月7日,星期日

तुम्हारे बिना



तुम्हारे बिना मेरा जीवन,
जैसे जलेबी बिना पोहे,
जैसे मलाई बिना चाय,
जैसे कंकड़ बिना चावल,
जैसे टपकती हुई आइसक्रीम||

तुम्हारे बिना मेरा जीवन,
जैसे सास बिना सीरियल,
जैसे address बिना पिन कोड,
जैसे  मेक-अप बिना हीरोइन||

तुम्हारे संग मेरा जीवन,
जैसे बारिश संग मेंढक,
जैसे हार्न संग स्कूटर,
जैसे सरकार संग भ्रष्टाचार||

तुम्हारे संग मेरा जीवन,
जैसे बाल संग टकला,
जैसे फॉल संग साड़ी,
जैसे पंखे संग हवा,
जैसे मोबाइल संग व्हाट्सएप्प (Whatsapp)|